क्राउन प्रिंस का दौरा लोकसभा चुनाव पर क्या असर डालेगा? | Publick View

क्राउन प्रिंस का दौरा लोकसभा चुनाव पर क्या असर डालेगा?

क्राउन प्रिंस का दौरा भले ही अपनी राजनीतिक छवि को सुधारने का रहा हो, लेकिन ये भारत के आगामी लोकसभा चुनावों पर भी असर डाल सकता है. 20 फरवरी को सऊदी और भारत सरकार के बीच 6 अहम समझौतों पर हस्ताक्षर हुए.

will Crown prince visit effect Indian Loksabha elections?

क्राउन प्रिंस का दौरा लोकसभा चुनाव पर क्या असर डालेगा?

नई दिल्लीः मोदी सरकार के आख़िरी महीने में सऊदी क्राउन प्रिंस का भारत दौरा बहुत मायने रखता है. भारत सरकार के लिए भी और सऊदी अरब सरकार के लिए भी. इस दौरे से भारत के लिए सौ मिलियन डॉलर के व्यापर के रास्ते खुले और साथ ही 6 महत्वपूर्ण समझौतों पर हस्ताक्षर हुए.

ये हैं वो 6 समझौते

स्रोत: Ministry of External Affairs
  1. भारत और सऊदी के बीच राष्ट्रीय निवेश और इंफ्रास्ट्रक्चर को लेकर समझौता हुआ.
  2. टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए एक एमओयू पर साइन हुए हैं. ऐसे में दोनों देश पर्यटन को बढ़ाना चाहते हैं.
  3. हाउसिंग के क्षेत्र में भी योगदान के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किये गए.
  4. भारत और सऊदी अरब के बीच द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ावा देने के लिए भी समझौता हुआ है.
  5. दोनों देशों के बीच प्रसार को साझा करने पर भी समझौता हुआ है. भारत में प्रसार भारती और वहां के सरकार प्रसारण के बीच डील हुई है. ताकि दोनों देशों के बीच पारंपरिक और सांस्कृतिक समझ पैदा हो.
  6. अंत में दोनों देशों के बीच इंटरनेशनल सोलर अलायंस को लेकर भी बड़ा करार हुआ है. भारत ने सोलर अलाइंस समिट सोलर एनर्जी को बढ़ावा देने के लिए कई देशों से समझौता किया है.

कैसे पड़ेगा लोकसभा चुनावों पर असर

इस पूरे समझौते में 2 सबसे महत्त्वपूर्ण समझौते हैं “निवेश और इंफ्रास्ट्रक्चर” और “हाउसिंग क्षेत्र में योगदान”. ये वो समझौते हैं जिनकी मदद से सरकार अपने पुराने चुनावी मुद्दों को आगामी चुनाव से पहले भुना सकती है.

सरकार ने 25 जून 2015, को प्रधानमंत्री आवास योजना का उदघाटन किया था. प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2022 तक भारत में शहरों में रह रहे 2 करोड़ ग़रीब परिवारों को पक्के मकान, गैस और पानी के कनेक्शन, और 24 घंटे की बिजली सप्लाई दी जानी थी.

इस योजना का ग्रामीण स्वरूप “प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना” योजना को 20 नवंबर 2016 को लॉन्च किया गया था. इसके अंतर्गत 1 करोड़ ग्रामीण परिवारों को 31 मार्च 2019 तक घर की सुविधा दी जानी थी.

बीती 19 फरवरी को यूनियन कैबिनेट ने “प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना” के फेस-2 को मंज़ूरी दे दी है. इस योजना के तहत 2022 से पहले 1.95 करोड़ मकान बनाये जाएंगे. इसके लिए आधिकारिक घोषणा भी की जा चुकी है. घोषणा ज़रूर हाउसिंग स्कीम से ताल्लुक रखती है लेकिन क्राउन प्रिंस के दौरे के बाद इसे जल्दी से और अच्छी तरह से लागू किया जा सकेगा.

एक आधिकारिक बयान में कहा गया, “ग्रामीण घरों में रहने वाले लोग जो कि आवासहीन हैं या जीर्ण-शीर्ण घरों में रहते हैं, उन्हें 2022 तक पक्के मकान उपलब्ध कराए जाएंगे.”

सऊदी का फायदा

अक्टूबर 2018 में इस्तांबुल में सऊदी दूतावास में, सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या कर दी गयी थी. इसके बाद से सऊदी के तमाम नेताओं की राजनीतिक छवि को भारी नुक्सान पहुँचा. इस हत्या के बाद एक CCTV फुटेज भी सामने आयी जिसमे पत्रकार जमाल खशोगी दूतावास में जाते हुए दिखे पर वापस नहीं आये. वैश्विक स्टार पर तुर्की के राष्ट्रपति समेत कई नेताओं और पत्रकारों ने कड़ी आलोचना की.

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस अपनी इसी छवि को सुधारने में लगे हुए हैं. पाकिस्तान और भारत का दौरा इसी रणनीति का एक हिस्सा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *