जगन्नाथ यात्रा पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

ओडिशा के पुरी में जगन्नाथ यात्रा पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

भगवान जगन्नाथ यात्रा और उससे जुड़ी गतिविधियों पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी है. ओडिशा के पुरी में ये रथयात्रा 23 जून को होनी थी. इसमें लगभग 10 से 12 लाख लोगों के जमा होने की उम्मीद जताई जा रही थी. बता दें कि ये कार्यक्रम करीब 10 दिन तक चलता है. सुप्रीम कोर्ट ने यात्रा पर रोक लगाते हुए कहा कि लोगों के स्वास्थ्य के लिए यह आदेश ज़रूरी है.

साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर हम रथयात्रा को अनुमति नहीं देंगे, तो भगवान जगन्नाथ हमें इसके लिए माफ कर देंगे. इसके अलावा कोर्ट ने यह भी कहा कि भगवान जगन्नाथ का काम कभी नहीं रुकता है.

बता दें कि ओडिशा विकास परिषद नाम के एक संगठन ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी. जिसमें उसने कहा था कि राज्य में 30 जून तक धार्मिक स्थलों को बंद रखने का फैसला लिया गया है. लेकिन प्रशासन की तरफ से रथयात्रा को मंजूरी दिए जाने के संकेत मिल रहे हैं. यहां लाखों लोगों के जमा होने से कोरोना के भारी मात्रा में लोगों में फैलने की आशंका है. इसलिए कोर्ट इस रथयात्रा पर रोक लगाए और राज्य सरकार से कहे कि वह इस साल यात्रा की अनुमति न दे.

बता दें कि अब सुप्रीम कोर्ट ने इस यात्रा पर एक वर्ष तक रोक लगा दिया है. साथ ही इस यात्रा से जुड़ी सारी गतिविधियों पर भी रोक लगा दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *