arvind kejriwal, Delhi government

सुप्रीम कोर्ट ने लगायी दिल्ली सरकार को फटकार, कहा डॉक्टर्स को परेशान करना बंद करें

कोरोना काल के इस दौर में दिल्ली सरकार के काम-काज पर लगातार सवाल उठते रहे हैं. एक बार फिर से सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली सरकार को फटकार लगायी है. इस बार मामला दिल्ली के डॉक्टरों और स्वास्थय कर्मियों से जुड़ा हुआ है. सुप्रीम कोर्ट में दिल्ली में कोरोना के मामले और डॉक्टर्स से जुड़ी समस्याओं पर सुनवाई चल रही थी. सुनवाई के दौरान अदालत ने कहा कि ‘डॉक्टर्स और नर्स की सुरक्षा के लिए दिल्ली सरकार ने अभी तक क्या किया है ?’. साथ ही अदालत ने बड़े सख़्त लहजे में कहा कि आप चाहते ही नहीं के सच्चाई बाहर आए. लेकिन कई वीडियो जो सामने आए उन्होंने सच से पर्दा उठा दिया है.

इसके जवाब में दिल्ली सरकार ने कहा कि 500 रेलवे कोच को वार्ड में तब्दील कर दिया गया है. साथ ही 10 से 49 बेड तक के नर्सिंग होम को कोरोना के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जाएगा. दिल्ली सरकार ने PWD को आदेश दिया है के वो तमाम कोरोना वार्ड में सीसीटीवी कैमरा लगाएं. पांच सितारा होटल सहित कई होटलों को भी ज़रुरत पड़ने पर कोविड-19 के लिए इस्तेमाल किया जाएगा.

डॉक्टर्स पर दर्ज एफआईआर से नाराज़ हुआ सुप्रीम कोर्ट

जस्टिस संजय किशन कौल ने कहा कि आप डॉक्टर्स के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर रहे हैं जो आपकी सच्चाई उजागर कर रहे हैं. आप डॉक्टर्स, स्वास्थय कर्मचारियों को धमका रहे हैं और आंकड़ों को छुपा रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट ने साफ़ तौर पर कहा कि कोरोना वारियर्स को परेशान न करें. अदालत ने कहा कि डॉक्टर्स को अपना काम करने दें और उन पर एफआईआर करना बंद करें. साथ ही अदालत ने दिल्ली सरकार से यह सवाल भी किया के आपने उस डॉक्टर को क्यों निष्कायत किया जिसने खराब व्यवस्था को उजागर किया. इस मामले में अब अगली सुनवाई शुक्रवार को होगी.

दिल्ली में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. बीते 24 घंटे में 1859 नए मामले सामने आए साथ ही 93 मौतें हो चुकी हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *