क़र्ज़ नहीं चुकाया तो जेल जाएंगे अनिल अंबानी

नई दिल्ली: रिलायंस कम्युनिकेशन के चेयरमैन अनिल अंबानी को सुप्रीम कोर्ट ने अदालत की अवमानना का दोषी करार दिया है. एरिक्सन इंडिया से जुड़े मामले में अदालत ने अनिल अंबानी को 550 करोड़ रूपए की बकाया राशि अदा करने को कहा है. समय पर राशि न जमा करने की सूरत में अनिल अंबानी को तीन महीने के लिए जेल जाना होगा. अदालत ने अनिल को पिछला आदेश न मानने का दोषी पाया है. रिलायंस कम्युनिकेशन ने अदालत से बिना किसी शर्त माफ़ी के लिए अर्ज़ी दायर की. अदालत ने इस अर्ज़ी को ठुकराते हुए अनिल अंबानी सहित उनके दो डायरेक्टर्स को एक करोड़ रूपए की जुर्माना राशि जमा करने को कहा. आर्थिक दिवालियेपन की कगार पर पहुँच चुके रिलायंस कम्युनिकेशन के लिए यह एक बड़ा झटका है.

जेल से बचने के लिए क्या कर सकते हैं अनिल अम्बानी?

अनिल अंबानी के लिए जेल से बचने केलिए सबसे सही रास्ता यह है की वो समय पर राशि जमा कर दें. इससे पहले रिलायंस कम्युनिकेशन ने पैसे न होने का हवाला देते हुए दो बार तारिख बढ़ाने की अर्ज़ी अदालत में दायर की थी. अक्टूबर में दायर की गयी उसकी अर्ज़ी ने मंज़ूर कर ली गयी थी. उसके बाद दूसरी अर्ज़ी अदालत ने ठुकरा दी थी. एरिक्सन के तरफ से पेश होने वाले वकील ने कहा की अनिल अम्बानी ने ‘सौ करोड़ की संपत्ति’ सौदा कर लिया है. साथ ही वकील ने कहा की उनके पास क़र्ज़ चुकाने के लिए पर्याप्त राशि है.

यह भी पढ़ें: कश्मीरी छात्रों को आगामी सत्र से नहीं मिलेगा दाखिला

अदालत के आदेश के बाद रिलायंस कम्युनिकेशन ने अपने आधिकारिक बयान में कहा की “हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं. हम इसका पालन करेंगे.” जेल से बचने के लिए अनिल अम्बानी के पास तीन रास्ते हैं. पहला तो ये के वह रिलायंस कम्युनिकेशन के शेयर बेच कर राशि का भुगतान करें. वह शेयर रिलायंस जियो को बेच सकते हैं. फिर वो रिलायंस ग्रुप की दूसरी कंपनियों से मदद ले सकते हैं. 2017 में रिलायंस जियो और रिलायंस कम्युनिकेशन के बीच हुई डील लगभग खतम हो गयी है. एरिक्सन लंबे समय से रिलायंस कम्युनिकेशन से अपने क़र्ज़ की अदाएगी के लिए अदालत में लड़ाई लड़ रहा है.

पब्लिक व्यू डेस्क

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *