nitish kumar

84 दिन के बाद अपने आवास से निकल सरकारी कार्यालय गए नीतीश कुमार, कहीं तेजस्वी का ट्वीट वजह तो नहीं

बिहार में आगामी चुनाव को लेकर सियासी घमासान तेज हो गया है. इसी के तहत बिहार में विपक्षी पार्टी आरजेडी भी नीतीश सरकार को घेरने का एक भी मौका नहीं छोड़ती. यहीं वजह है कि लालू यादव और तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कोरोना काल में अपने घर से एक बार भी बाहर ना निकलने पर उनपर लगातार सवाल खड़ा कर रहे हैं. इसी बात का आज नीतीश कुमार ने जवाब भी दिया है.

बता दें कि तेजस्वी यादव ने ट्वीटर पर नीतीश कुमार से सवाल किया था कि 84 दिन से आप घर से बाहर क्यों नहीं निकलें है. साथ ही उन्होंने लिखा कि आप ऐसा करने वाले देश के अकेले मुख्यमंत्री है. ट्वीटर पर नीतीश कुमार पर सवाल खड़ा करने वाले अकेले तेजस्वी ही नहीं बल्कि लालू यादव, राबड़ी देवी के साथ-साथ आरजेडी के कई नेता है. वहीं, इन सब के बीच आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपने सरकारी आवास से थोड़ी दूरी पर स्थित सरकारी कार्यालय संवाद पहुंचे. जहां उन्होंने मंगलवार को कोरोना संकट को लेकर जो स्थिति पैदा हुई है उस को लेकर कैबिनेट बैठक की. इससे पहले अब तक कैबिनेट बैठक वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए ही होती रही है.

इतने ट्वीट के बाद अचानक से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का बाहर निकलकर सरकारी कार्यालय जाकर काम करना सवाल तो खड़ा करता है. कहीं ऐसा तो नहीं कि लगातार तेजस्वी यादव के ट्वीट की वजह से ही नीतीश कुमार अपने आवास से निकलने पर मजबूर हुए हो?

तेजस्वी के सवालों का सीएम नीतीश ने दिया जवाब

तेजस्वी ने जो ट्वीट के जरिए सवाल किए थे, उनपर पलटवार करते हुए नीतीश कुमार ने उसका जवाब दिया. नीतीश ने कहा कि, ‘हमको कहता है बाहर नहीं निकले हैं. लॉकडाउन लागू है, पूरे देश में कहा जा रहा है बाहर ना निकलें. प्रतिदिन एक-एक चीज की समीक्षा, सारा काम कर रहे हैं. खुद कहां रहता है भाग करके इसका कोई ठिकाना नहीं है, पार्टी को लोगों को भी पता नहीं होता.’

दरअसल मंगलवार को तेजस्वी यादव ने एक के बाद एक ट्वीट करते चले गए. जिसमें उन्होंने लिखा, “‘आदरणीय मुख्यमंत्री जी, इस संकटकाल में स्वास्थ्य व्यवस्था, गरीबों-श्रमिकों की वस्तुस्थिति जानने और राज्यवासियों की हौसला अफजाई करने विगत 84 दिन से आप घर से बाहर नहीं निकले है. आप ऐसा करने वाले देश के अकेले CM है. अगर कोई डर है तो आगे-आगे मैं आपके साथ चलूंगा. लेकिन अब तो निकलिए.’

इसके बाद उन्होंने एक और ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा, ‘देशवासी कह रहे हैं कि बिहार के CM को डर लगता है. सरकारी मशीनरी और संसाधनों का दुरूपयोग करते हुए आप प्रतिदिन घंटों अपने नेताओं से वीडियो कांफ़्रेंस करते हैं, लेकिन आम जनता को आपने पूछा तक नहीं. क्वारंटाइन सेंटरों में आपने जनता की क्या दुर्गति की यह किसी से छुपा नहीं है. अब तो जागिए.’

तेजस्वी के ट्वीट से पहले आरजेडी के मुखिया लालू प्रसाद यादव ने नीतीश कुमार का नाम लिए बिना ही इसी मुद्दे पर निशाना साधा. लालू यादव ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘बूझो तो जानें? किस प्रदेश का डरपोक मुख्यमंत्री विगत 83 दिन से घर से बाहर नहीं निकला है? कोरोना भले ना भागऽल लेकिन ई मुकमंत्री जनता के बीच मंझधार में छोड़ के भाग गऽइल ई रणछोर के हिसाब-किताब आवे वाला चुनाव में सब लोग मिल-ज़ुल के लऽ.’

इसके साथ ही बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने भी नीतीश सरकार को घेरने की कोशिश की. राबड़ी देवी ने ट्वीट में लिखा, ‘क्या आप जानते हैं पिछले 84 दिन से सीएम नीतीश कुमार ने अपने घर से बाहर एक कदम भी नहीं रखा है? सभी प्रदेशों के मुख्यमंत्री कोरोना पीड़ितों, श्रमिकों, गरीबों और छात्रों की सेवा में लगे हैं. अस्पतालों से लेकर रेलवे स्टेशन और हवाई अड्डों के चक्कर लगा रहे हैं लेकिन बिहार के CM गायब हैं.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *