Migrant labour

लॉकडाउन में हर दिन हादसों का शिकार होता प्रवासी मजदूर

कोरोना वायरस और इसके संक्रमण के कारण किए गए इस लॉकडाउन की सबसे ज्यादा मार प्रवासी मजदूर ही झेल रहा है.  केंद्र व राज्य सरकारें चाहें जितने भी दावे कर ले, लेकिन प्रवासी मजदूर अब भी पैदल आने-जाने को मजबूर हैं. जिसके कारण हमें हर दिन मजदूरों के घर वापसी करते समय किसी ना किसी हादसें में मरने की खबर मिल रही है. औरंगाबाद में ट्रेन से 16 प्रवासी मजदूरों के कट जाने के दो दिन बाद ही एक बार फिर मजदूरों से जुड़ा एक दर्दनाक मामला सामने आया है.

मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर में पाठा गांव के पास आम ले जा रहे एक ट्रक के पलटने से 5 मजदूरों की मौत हो गई. दरअसल हैदराबाद से उत्तरप्रदेश जा रहे आम से लदे ट्रक में सबार होकर कई मजदूर अपने घर की ओर लौट रहे थे, तभी यह हादसा हुआ. ये हादसा शनिवार देर रात का है.

जिस समय ये हादसा हुआ उस वक्त इस ट्रक में ड्राइवर और कंडक्टर सहित 18 लोग सवार थे. ये सभी लोग हैदराबाद से उत्तरप्रदेश जा रहे थे. रास्ते में पाठा गांव पहुंचते ही ट्रक पलट गया. इस हादसे में मौके पर ही 5 मजदूरों की मौत हो गई, जबकि 11 लोग घायल हो गए.

मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर के जिलाधिकारी दीपक सक्सेना का कहना है कि, “आम से लदे ट्रक में दो ड्राइवर और एक कंडक्टर समेत 18 लोग सवार होकर हैदराबाद से यूपी जा रहे थे. पाठा गांव के पास ट्रक के अचानक पलटने से 5 मजदूरों की मौत हो गई और 11 लोग घायल हो गए.” जिलाधिकारी दीपक सक्सेना ने बताया कि मजदूर हैदराबाद से यूपी के आगरा जा रहे थे. दो मजदूर गंभईर रूप से है. घायल मजदूरों में से एक को कुछ दिन से सर्दी-खांसी थी, जिसके चलते मृतकों सहित सभी के कोरोना सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिए गए हैं.

मुंबई से उत्तर प्रदेश पैदल लौट रहे तीन प्रवासी मजदूरों की मौत

मुंबई से उत्तर प्रदेश लौट रहे तीन प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई है. इनमें दो पैदल जा रहे थे, जबकि एक की मौत ट्रक में अचानक तबीयत खराब होने की वजह से हुई.

बताया जा रहा है कि फतेहपुर जिला के हरदासपुर में रहने वाले अनीस अहमद ट्रक में सवार होकर घर जा रहे थे. तभी अचानक जामली के पास ट्रक में उनकी तबीयत खराब हुई और थोड़ी देर में मौत हो गई. वहीं, प्रयागराज के रहने वाले लल्लूराम मुबंई से पैदल आ रहे थे. लल्लूराम की मध्य प्रदेश में एंट्री करने के बाद तबीयत बिगड़ी थी. जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. साथ ही तीसरे मृतक की पहचान प्रेम बहादुर के रूप में हुई है. वो भी मुंबई से पैदल घर आ रहे थे. वहीं, पुलिस का कहना है कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का पता चल पाएगा.

पंजाब से लौट रहे प्रवासी मजदूरों के साथ हादसा

पंजाब से बिहार जा रहे प्रवासी मजदूरों की डीसीएम सड़क किनारे खड़े टैंकर से टकराई. बादसे में 25 मजदूर घायल हो गए. बताया जा रहा है कि ये सभी मजदूर कुशीनगर ओर बिहार के रहने वाले है. जिन्हें पंजाब के एक कम्पनी मालिक ने डीसीएम से उनके घर भेज रही थी. इनमें से 9 मजदूरों को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. टैंकर चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो गया है साथ ही कम्पनी मालिक पर भी गलत तरीके से मजदूरों को भेजने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया जाएगा. हादसा मुरादाबाद- हरिद्वार मार्ग पर हुआ था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *