देश विरोधी नारे लगाने पर कई जगह कार्यवाही

पुलवामा में आतंकी हमले के बाद देश में शोक और दुख का माहौल है. हमले में शहीद जवानों को भावपूर्ण श्रद्धाजंलि देते हुए एकजुट होकर पाकिस्तान से बदला लेने की बात कर रहा है. वहीं कुछ असामाजिक तत्व आपत्तिजनक टिप्पणी कर माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे है.

हमले में सीआरपीएफ के 49 जवान शहीद हो गए हैं. पुलवामा आत्मघाती हमला उरी आतंकी हमले से बड़ा हमला था. इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी जाईश मोहम्मद सगंठन ने ली है. जहां पूरा देश वीर जवानों को कैंडल मार्च निकालकर, पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाकर अपना आक्रोश जताया. देश-विदेश के राजनीतिकरों, क्रिकेटर्स, फिल्मकारों ने ट्वीट के जरिये अपना दुख और शहीद जवानों के परिवार के साथ संवदेना व्यक्त कर शहीद को याद किया. 

कुछ लोगों ने देश विरोधी नारे लगाकर वीरों का अपमान किया है. इस तमाम मामलों पर राज्यों की पुलिस ने सक्रिय होकर फ़ौरन करवाई की. कुछ जगहों पर तो टीचिंग पेशे से जुड़े लोग हैं जिन्होंने अभद्र टिप्पणीयां की है।

कर्नाटक में एक प्राइवेट स्कूल की अध्यापक जिलेखा बी को “पाकिस्तान की जय हो” सोशल मीडिया पर लिखने के आरोपी में बेलगावी से गिरफ्तार कर लिया गया है. इसी बीच, असम के गुवहाटी में विवादित फसेबूक पोस्ट को लेकर अंग्रेजी के सहायक प्रोफेसर पापरी बनर्जी को निलंबित कर दिया गया.

साथ ही बलिया से रवि पीएम ने आतंकी हमले के बाद से फेसबुक पर देश विरोधी टिप्पणी करने के मामले में पुलिस ने रवि को गिरफ्तार कर लिया. चंडीगढ़ के पास मोहाली स्टेडियम से पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन ने शहीद के समर्थन में लोकप्रिय पाकिस्तानी क्रिकेटर इमरान खान की फ़ोटो हटा दी है.

देश विरोधी नारे लगाना अपने आप में शर्मनाक हरकत हैं. सेना का मनोबल कही न कही कम होता हैं और देश की छवि खराब होती है.

पब्लिक व्यू डेस्क

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *