Indian railway

12 मई से शुरू होंगी स्पेशल ट्रेन, कल शाम 4 बजे से होगी बुकिंग

भारतीय रेलवे ने 12 मई से सामान्य ट्रेनों के परिचालन को दोबारा शुरू करने की घोषणा कर दी है. इसके शुरूआत में 15 जोड़ी ट्रेन चलाई जाएंगी. रेलवे का कहना है कि इसे बाद में बढ़ाया जा सकता है. ये सभी स्पेशल ट्रेन देश के 15 अलग-अलग हिस्सों में चलाई जाएंगी. ये सभी ट्रेन नई दिल्ली से डिब्रूगढ़, अगरतला, हावड़ा, पटना, बिलासपुर, रांची, भुवनेश्वर, सिकंदराबाद, बेंगलुरू, चेन्नई, तिरुवनन्तपुरम, मडगांव, मुबंई सेंट्रल, अहमदाबाद और जम्मू तवी की ओर जाएंगी. साथ ही ये बात साफ की गई कि जिन यात्रियों में संक्रमण का किसी भी तरह का कोई लक्षण नहीं होगी उन्हें ही यात्री की मंजूरी दी जाएगी.

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी. उन्होंने लिखा, ” रेलवे बारी-बारी से पैसेंजर ट्रेन चलाने के बारे में सोच रहा है. इसे 12 मई से शुरू किया जा सकता है. शुरू में 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेन चलाई जाएंगी. ये ट्रेन नई दिल्ली से शुरू होंगी और देश के अलग-अलग स्टेशनों तक जाएंगे. स्पेशल ट्रेन की बुकिंग 11 मई दिन सोमवार से 4 बजे शाम से शुरू होगी.”

कैसे होगी बुकिंग?

आपको बता दें कि स्टेशनों से टिकट की बुकिंग नहीं होगी. साथ ही प्लेटफॉर्म टिकट सहित कोई भी टिकट की बिक्री कांउटर से नहीं होगी. ये सभी बुकिंग सिर्फ आईआरसीटीसी की वेबसाइट के द्वारा की जाएगी. स्पेशल ट्रेन की बुकिंग 11 मई दिन सोमवार से 4 बजे शाम से शुरू हो जाएगी.

इसके साथ ही इस बात का खास ख्याल रखा जाएगा कि किसी भी यात्री को यात्रा के दौरान किसी तरह की परेशानी न हो. इसके लिए सभी यात्रियों का फेस मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है. रेलवे की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक स्टेशन पर सभी यात्रियों को स्क्रीनिंग करवानी होगी.

बता दें कि इससे पहले भी रेल मंत्री पीयूष गोयल ने राज्य सरकारों से अपील कर चुके है कि वे अपने राज्य में ट्रेन भेजने की इजाजत दें, ताकि अलग-अलग राज्यों में फंसे मजदूरों को उनके घर पहुंचाया जा सकें. पीयूष गोयल ने एक ट्वीट में लिखा,” मैं सभी राज्य सरकारों से अपील करता हूं कि वे ट्रेन चलाने की अनुमति दें ताकि अन्य प्रदेशों में फंसे प्रवासी श्रमिकों को निकाला जा सके. फंसे प्रवासियों को निकालने की अनुमति मिलने से अगले 3-4 दिन में उनके घर पहुंचाया जा सकता है.” रेल मंत्री ने एक दूसरे ट्वीट में लिखा,” प्रधानमंत्री के निर्देश पर पिछले 6 दिन से रेलवे ने 300 श्रमिक ट्रेन चलाने का काम शुरू कर दिया है.”

आपको बता दें कि भारतीय रेल ने ये भी साफ कर दिया है कि इन ट्रेन के चलने के बाद भी श्रमिक ट्रेन चलती रहेंगी. औपको बता दें कि श्रमिक ट्रेन में सफर करने वाले मुसाफिरों को मुफ्त खाना और पानी दिया जा रहा है. साथ ही रेलवे ट्रेन तभी चला रहा है जब उस राज्य की ओर से इसकी अनुमति मिल रही है. जिस राज्य में मुसाफिरों को भेजना है, उस राज्य की ओर से इजाजत भेजी जा रही है. तब श्रमिकों को उस राज्य में ट्रेन से भेजा जा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *