कश्मीरी छात्रों को आगामी सत्र से नहीं मिलेगा दाखिला | Publick View

कश्मीरी छात्रों को आगामी सत्र से नहीं मिलेगा दाखिला

देहरादून के अल्पाइन कॉलेज ऑफ़ मैनेजमेंट टेक्नोलॉजी और बाबा फरीद इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी ने आगामी शैक्षिणिक सन्न से किसी भी कश्मीरी छात्र को दाखिला न देने का फैसला किया है.

vivolenece on kashmiri students

देहरादून: पुलवामा आतंकी हमले का कथित तौर पर समर्थन कर रहे देश के विभिन्न शहरों में कई कश्मीरी छात्रों के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया है. इस बीच देहरादून के दो कॉलेजों ने कश्मीरी छात्रों को आगामी सत्र से दाखिला देने से साफ़ मना कर दिया है. जम्मू और कश्मीर के प्रशासन ने सोमवार को राज्य से बाहर छात्रों को अफवाहों पर ध्यान न देने के लिए कहा और अपने संबधित स्थानों पर रहने की कोशिश करने को कहा.

देहरादून के अल्पाइन कॉलेज ऑफ़ मैनेजमेंट टेक्नोलॉजी और बाबा फरीद इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी ने आगामी शैक्षिणिक सन्न से किसी भी कश्मीरी छात्र को दाखिला न देने का फैसला किया है. इस फैसले की पुष्टि दोनों कॉलेजो के शीर्ष अधिकारियों ने छात्र संगठनों के साथ साझा बैठक करके अलग-अलग पत्रों में की है. सिर्फ इतना ही नहीं छात्र संगठन कश्मीरी छात्रों को निष्कासित करने की मांग कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें: जामिया में 13 डिस्टेंस कोर्स की प्रवेश प्रक्रिया शुरू

उतराखंड की राजधानी में कुछ कश्मीरी छात्रों ने आरोप लगाया है की पुलवामा हमले के बाद से उनको लगातार परेशान किया जा रहा है और उनके मकान मालिकों ने उनको कमरा भी जल्द से जल्द खाली करने को कहा है. जम्मू और कश्मीर सरकार ने रविवार को देश भर के अपने सम्पर्क अधिकारिओं को राज्य के छात्रों की समस्याओं पर ध्यान देने को कहा.

दिल्ली में कई कश्मीरी छात्रों ने कहा कि पुलवामा हमले के बाद कश्मीरियों के कथित उत्पीड़न की रिपोर्ट के बाद वो लोग डर की स्तिथि में हैं. वहीं राजधानी में सुरक्षा बढ़ा दी गयी है. जामिआ मिलिया इस्लामिया के एक कश्मीरी छात्र ने दावा किया कि देश भर में कश्मीरी छात्रों को न केवल परेशान किया जा रहा है बल्कि उनके साथ दुर्वयवहार किया जा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *