lockdown 4.0

Breaking: देशभर में 31 मई तक बढ़ाया गया लॉकडाउन

देश में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर रखते हुए लॉकडाउन को 31 मई तक बढ़ा दिया गया है. लॉकडाउन-4 में ज्यादातर अधिकार राज्यों को दिए गए हैं. इसके साथ ही केंद्रीय सूची में आने वाले विषयों पर केंद्र सरकार अलग से विस्तृत गाइडलाइन जारी करेगी.

lockdown 4.0

लॉकडाउन के दो चरण पहले ही पूरे हो चुके हैं और आज तीसरे चरण का भी आखिरी दिन है. कल यानी 18 मई, सोमवार से लॉकडाउन का चौथा चरण शुरू होने वाला है. पूरे देश में 31 मई तक लॉकडाउन बढ़ गया है. इधर, कैबिनेट सचिव राजीव गाबा लॉकडाउन 4.0 के गाइडलाइंस को लेकर आज रात 9 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी राज्यों के मुख्य सचिवों/ महानिदेशकों से चर्चा करेंगे. बता दें कि नए नियमों में आर्थिक गतिविधियों को रफ्तार देने के लिए छूट का दायरा काफी बढ़ा दिया गया है. साथ ही लोगों के आवागमन पर भी कई तरह के प्रतिबंध खत्म कर दिए गए हैं.

इससे पहले दो बार देश में लॉकडाउन पहले ही बढ़ाया गया था और लॉकडाउन-3 आज का आखिरी दिन है. बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च को किए गए देश के नाम संबोधन में लॉकडाउन बढ़ाने का संकेत दिया था. हालांकि इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि यह कुछ नए रंग रूप वाला हो सकता है.

आज लगभग 24 घंटे में 4,900 कोरोना के नए मामलों के साथ कोरोना संक्रमण का आंकड़ा 90 हजार से पार हो गया है. साथ ही देश भर में अबतक 2800 देश में जिस तरह से कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं, उससे लॉकडाउन का बढ़ना लाजिमी माना जा रहा है. अबतक कई राज्यों ने इसके लिए तैयारी भी कर ली थी.

पंजाब, तेलंगाना, महाराष्ट्र और तमिलनाडु ने पहले ही 31 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा कर दी है. बता दें कि देश में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 90 हजार के पार पहुंच चुकी है. जिनमें से 2800 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

केंद्र सरकार ने लॉकडाउन को बढ़ाने के बारे में सभी राज्यों से सुझाव मांगे थे. शुक्रवार को गृह मंत्री अमित शाह ने अपने मंत्रालय के अधिकारियों के साथ मैराथन बैठक की. जिसमें सभी राज्यों से मिले सुझावों पर विचार करने के बाद लॉकडाउन-4 के लिए दिशानिर्देशों का एक खाका तैयार किया गया. ज्यादातर राज्यों ने इस महीने के आखिर तक लॉकडाउन बढ़ाने का सुझाव दिया था.

लॉकडाउन का पहला चरण 25 मार्च से 14 अप्रैल तक था. साथ ही 15 अप्रैल से 3 मई तक लॉकडाउन-2 और 4 मई से 17 मई तक लॉकडाउन-3 था. पहले चरण में केवल जरूरी सामान के लिए छूट दी गई थी. जबकि लॉकडाउन-2 में हॉटस्पॉट छोड़कर ऑरेंज और ग्रीन जोन में दुकानें खोलने की अनुमति दी गई थी. इसके अलावा लॉकडाउन-3 में कुछ शर्तों के साथ फैक्ट्रियां खोलने की अनुमति भी दी गई थी. बता दें कि कोरोना के इस दौर में देश में जहां-तहां फंसे प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए ट्रेनें और बसें भी चलाई गईं है. इसके अलावा राजधानी के रूट पर 15 जोड़ी विशेष ट्रेनें भी चलाई जा रही हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *