Arvind Kejriwal

केजरीवाल की प्रवासी मजदूरों से दिल्ली छोड़कर ना जानें की अपील की

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को एक बार फिर प्रवासी मजदूरों से अपील करते हुए कहा कि वे 21 दिनों के लिए लागू लॉकडाउन के दौरान देशहित को ध्यान में रखते हुए अपने राज्यों या गांवों के लिए नहीं निकलें. केजरीवाल ने प्रवासी मजदूरों से कहा कि वह जहां भी हैं, वहीं रहें क्योंकि भीड़ इकट्ठा होने से कोरोना वायरस फैलने का खतरा बढ़ सकता है. लॉकडाउन के दौरान उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड के हजारों प्रवासी मजदूर अपने घरों को वापस लौटना शुरू हो गए हैं.

केजरीवाल ने प्रवासी मजदूरों से दिल्ली ना छोड़कर जानें का निवेदन किया है. उन्होंने कहा कि ये लोग पैदल निकल रहे हैं, बिना कुछ खाए किलोमीटरों तक चलते हैं जो ठीक नहीं है. केजरीवाल ने आगे कहा कि दिल्ली सरकार मजदूरों से विनती करती है कि ऐसे न जाएं सरकार उनके जाने का प्रबंध कर रही है. इसके साथ ही केजरीवाल ने कहा कि ऐसा लग रहा है जैसे मजदूरों के लिए कोई नहीं है, सारा सिस्टम और सारी सरकारें फेल हो गई है.

केजरीवाल ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘पहला निवेदन है कि दिल्ली छोड़कर न जाएं. लेकिन जाना ही चाहते हैं तो हम ट्रेन का इंतजाम कर रहे हैं। मध्य प्रदेश और बिहार ट्रेन भेजी है, आगे और भेजेंगे. आप ऐसे पैदल मत निकलिए.

दिल्ली में मरने वाले 82% लोग 50 साल से ऊपर के

दिल्ली में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर तमाम तरह की जानकारियां दीं. केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली में करीब 7 हजार केस हैं जिनमें से ज्यादा कम या बिना लक्षण वाले हैं. उन्होंने बताया कि कुल मरीजों में से गंभीर और मृतकों की संख्या बहुत कम है. साथ ही उन्होंने कहा की दिल्ली में मरने वाले 82% लोग 50 साल से ऊपर के है. इसके साथ ही 2069 लोग ठीक होकर घर चले गए है.

सीएम अरंविद केजरीवाल ने बताया की दिल्ली में इस वक्त 1500 मरीज अस्पतालों में भर्ती है. साथ ही इस वक्त 91 कोरोना संक्रमित मरीज ICU में भर्ती हैं. इसमें से सिर्फ 27 ही वेंटिलेटर पर हैं. केजरीवाल ने कहा कि हलके लक्षण वालों का इलाज घर में हो सकता है. उन्होंने बताया कि कोरोना वॉरियर्स के लिए 5 स्टार होटल तैयार करवाएं जा रहे है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *