amit shah in bangal rally

बंगाल रैली में दिखा अमित शाह का शायराना अंदाज़

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज पश्चिम बंगाल में वर्चुअल रैली की. करीब 70 मिनट के अपने इस भाषण में लोगों को संबोधित करते हुए वो केंद्र सरकार की उपलब्धियों के साथ-साथ ममता सरकार की कई नाकामियां भी गिनाते नजर आए. अपने भाषण में अमित शाह ने राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को राजनितिक हिंसा, सीएए और केंद्र की योजनाओं को लागू ना करने के अहम मुद्दों पर घेरा. इसके साथ ही अमित शाह ने दुष्यंत कुमार की कविता सुनाते हुए शायरना अंदाज में अपने भाषण का अंत किया.

शाह ने कहा, ‘ हो गई है पीर पर्वत-सी पिघलनी चाहिए,
इस हिमालय से कोई गंगा निकलनी चाहिए,
सिर्फ हंगामा खड़ा करना मेरी मकसद नहीं,
सारी कोशिश है कि ये सूरत बदलनी चाहिए….’

गृहमंत्री अमित शाह के भाषण की अहम बातें

बंगाल में वर्चुअल की रैली की शुरूआत करते हुए अमित शाह ने कहा, ” मोदी जी 2014 में देश के प्रधानमंत्री बनें और उन्होंने 2019 में फिर से जनादेश प्राप्त किया. मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक वर्ष समाप्त हुआ है. ये 6 साल भारत को हर तरह से आगे बढ़ाने के 6 साल रहे हैं. ये 6 साल भारत की समस्याओं का समाधान करने के 6 साल रहे हैं.”

अमित शाह ने आगे कहा, “हमने प्रवासी मजदूरों के लिए श्रमिक स्पेशल नाम देकर ट्रेन चलाई, लेकिन ममता बनर्जी ने उन ट्रेनों को कोरोना एक्सप्रेस बोलकर मजदूरों का अपमान किया.” शाह ने कहा कि मजदूरों की यहीं गाड़ी आपको सत्ता से बाहर करेगी. अमित शाह ने कहा कि हम अपनी सरकार का हिसाब दे रहे हैं, ममता जी आप अपने 10 साल का हिसाब बताइए, लेकिन बम धमाकों और बीजेपी के कार्यकर्ताओं के मौत का आंकड़ा मत बताइएगा.

वर्चुअल रैली का संबोधन करते हुए अमित शाह ने कहा कि “जब सीएए आया तो ममता जी का चेहरा गुस्से से लाल हो गया. मैंने उनका इतना गुस्सा किसी पर नहीं देखा. आप सीएए का विरोध कर रही है, आपको नामशूद्र और मतुआ समाज से क्या दिक्कत है. ममता जी आपको सीएए का विरोध करना बहुत महंगा पड़ेगा, जब मत पेटी खुलेगी तो जनता आपको राजनितिक शरणार्थी बनाने वाली है.”

बंगाल सरकार पर केंद्र की योजनाएं ना लागू करने का आरोप लगाते हुए शाह ने ममता बनर्जी को चुनौती देते हुए कहा कि ये राजनीति की चीज नहीं है, राजनीति के कई और मैदान है आप मैदान तय कर लो. दो-दो हाथ जाएं. शाह ने आगे कहा कि बंगाल में सत्ता बदलेगी और शपथ के एक मिनट के अंदर आयुष्मान भारत योजना बंगाल में लागू हो जाएगी. वर्चुअल रैली पर बोलते हुए शाह ने कहा कि ममता जी आप जनता से संवाद करने से नहीं रोक सकती. आप रोड रैली रोक सकती हो लेकिन परिवर्तन नहीं रोक सकती.

जनधन खाते खोलने पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि आज इस मुश्किल हालात में 51 करोड़ लोगों के बैंक अकाउंट में करोड़ो रूपये डाले गए. शाह ने आगे कहा कि कोविड और अम्फान से जिन लोगों की जान गंवाई, उन सभी की आत्मा को शांति के लिए मैं प्रार्थना करता हूं.

इसके साथ ही अमित शाह ने कहा, ” 2014 से 100 से ज्यादा बीजेपी कार्यकर्ताओं ने संघर्ष करते हुए जान गंवाई है. मैं उनके परिवारों को सलाम करना चाहता हूं. आपका त्याग सोनार बंगला के निर्माण में काम आएगा. जब कभी बंगाल का इतिहास लिखा जाएगा तो आपके परिवार के त्याग और बलिदान को याद किया जाएगा. “

गृहमंत्री ने कहा कि देश में 75 रैलियों के जरिए हमने देश की जनता से संपर्क करने के अभियान चलाया है. इसका असर हमें आने वाले समय में दिखाई देगा. भले ही भाजपा को देश भर में 300 से ज्यादा सींटे मिली हैं, लेकिन हमारे जैसे कार्यकर्ता के लिए बंगाल की 18 सीटें अहम है. सियासी तौर पर पश्चिम बंगाल में बीजेपी के लिए सीटें काफी अहम हैं, क्योंकि पार्टी नें इसी साल लोकसभा चुनाव में यहां अप्रत्याशित प्रदर्शन किया है.

आपको बता दें कि बीते दो दिनों में अमित शाह ने पहले बिहार और फिर ओडिशा में वर्चुअल रैली से जनता को संबोधित किया है. केंद्र में प्रधानमंत्री मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले साल की उपलब्धियों को लोगों तक पहुंचाने के लिए बीजेपी वर्चुअल रैली कर रहीं हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *