balrampur dead body

बलरामपूर इंसानियत शर्मसार: शव को पोस्टमार्टम के लिए कचरा गाड़ी से भेजा

कोरोना वायरस की इस वैश्विक महामारी के बीच यूपी के बलरामपुर जिला से इंसानियत को शर्मसार करने की तस्वीर सामने आ रही है. जिसमें 42 साल के व्यक्ति की मौत तहसील के गेट पर हो गई. जिसके बाद उस अज्ञात व्यक्ति के शव को पोस्टमार्टम हाउस ले जाने के लिए नगर पालिका की कचरा ढ़ोने वाली गाड़ी का इस्तेमाल किया गया. गौर करने वाली बात यह है कि जब ये शव कचरे की गाड़ी में डाला जा रहा था, तो पुलिस वहां पहले से मौजूद थी. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. जिसके बाद लोग पुलिस को काफी सुना रहे है.

दरअसल, यह पूरा मामला बलरामपुर जिले के उतरौला कोतवाली क्षेत्र का है. जहां तहसील गेट के सामने एक अज्ञात व्यक्ति की मृत्यु हो गई. जब पुलिस को इस बात का पता लगा तो वो मौके पर पहुंचकर किसी अन्य गाड़ी से शव को पोस्टमार्टम के लिए ना भेजकर नगर पालिका की मदद से सफाई कर्मियों को बुलाकर कचरें की गाड़ी में शव उठवाकर भेज दिया. व्यक्ति की पहचान सहजौरा में रहने वाले अनवर अली के रूप में हुई है.

जब पुलिस विभाग की इस करतूत का वीडियो पुलिस के सामने आया तो उच्च अधिकारी लीपापोती करने लगे. हालांकि जानकारी के अनुसार मामले के बारे में पता चलने पर दरोगा रविन्द्र कुमार रमन, दो आरक्षक शैलेन्द्र पटेल और शुभम पटेल का साथ ही नगर पालिका के चार कर्मचारियों को तत्काल रूप से निलंबित कर दिया है.

वहीं एसपी देव रंजन के मुताबिक, यह घटना बुधवार की है. जब तहसील गेट पर लाश मिलने की सूचना मिली थी. स्वास्थ्य टीम घटना स्थल पर गई थी. अगर वह व्यक्ति कोरोना का संदिग्ध भी थी तो भी पीपीई किट पहन कर उसे वहां से हटाना चाहिए था ना कि कूड़ा गाड़ी में रखकर. एसपी ने बताया कि हमने और डीएम ने वीडियो देखा है. हम लोगों ने संयुक्त जांच के आदेश भी दिए है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *